यस बैंक को राहत, शेयरों में तेजी से निवेशकों ने कमाए 2700 करोड़

झटके में कमाए 2700 करोड़ - Yes बैंक को राहत

यस बैंक को राहत, कमाए 2700 करोड़ – दरअसल, बीते कुछ दिनों से यस बैंक के शेयर की कीमत में लगातार गिरावट आ रही थी, but गुरुवार को अचानक यह 30 फीसदी से अधिक चढ़ गया, प्राइवेट सेक्‍टर का यस बैंक इन दिनों सुर्खियों में है.

But संकट के दौर से गुजर रहे यस बैंक के शेयर में आई यह तेजी काफी अहम मानी जा रही है. ऐसे में सवाल है कि आखिर गुरुवार को ऐसा क्‍या हुआ जो यस बैंक के शेयर में इतनी बड़ी तेजी आ गई.

करीब 15 साल पहले शुरू हुए यस बैंक में जिन लोगों ने भी पैसे लगाए हैं उन्‍हें सिर्फ 13 महीने के भीतर 90 फीसदी से अधिक का नुकसान हो गया है.

अगस्‍त 2018 में यस बैंक का जो शेयर 400 रुपये से अधिक के भाव पर बिक रहा था वो बीते मंगलवार यानी 1 अक्‍टूबर को लुढ़क कर 30 रुपये के स्‍तर पर आ गया था.

So गुरुवार के कारोबार में अचानक यस बैंक के शेयर में 30 फीसदी से अधिक की तेजी आ गई. कारोबार के अंत में यस बैंक का शेयर करीब 33 फीसदी की बढ़त के साथ 42.55 रुपये के भाव पर बंद हुआ.

शेयरों में जोरदार तेजी से निवेशकों को 2700 करोड़ रुपये का फायदा हुआ.

दरअसल, गुरुवार को बाजार बंद होने पर यस बैंक का मार्केट कैपिटल 10,851.66 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. इससे पहले मंगलवार को यस बैंक का मार्केट कैप 8,161 करोड़ रुपये पर ठहरा था.

But इस लिहाज से सिर्फ एक कारोबारी दिन में यस बैंक का मार्केट कैप करीब 2700 करोड़ रुपये बढ़ गया है. बता दें कि बुधवार को गांधी जयंती की वजह से बाजार में कारोबार नहीं हुआ था.

दरअसल, संकट के दौर से गुजर रहे यस बैंक को दिवंगत अशोक कपूर के परिवार का समर्थन मिला है. यस बैंक को अशोक कपूर के परिवार का समर्थन काफी अहम है.

दरअसल, अशोक कपूर यस बैंक के प्रमोटर थे. लेकिन 26 नवंबर 2008 को मुंबई आतंकी हमले में उनकी मौत हो गई. इसके बाद अशोक की पत्‍नी मधु कपूर ने अपनी बेटी को बैंक के बोर्ड में शामिल करने की मांग की.

But मधु कपूर की यह मांग यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर ने ठुकरा दिया. इसके बाद यह विवाद कोर्ट तक पहुंचा.

because  अशोक कपूर के परिवार ने इस बैंक, इसके प्रबंधकों तथा नेतृत्व को अपना पूरा समर्थन बनाए रखने का भरोसा दिया है. अशोक कपूर की बेटी शगुन ने कहा कि हम यस बैंक के साथ पूरी मजबूती से खड़े हैं.

हम इस बैंक के नेतृत्व और इसके प्रबंधकों में पूरा भरोसा रखते हैं. परिवार का यह बयान तब आया है जब यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर के बैंक में अपनी हिस्सेदारी बेची है.

बता दें कि अशोक कपूर के नाम इस कंपनी के 8.7 फीसदी शेयर हैं. इसके साथ ही मैनेजमेंट में फेरबदल की वजह से भी बैंक के शेयर में तेजी आई है.

So सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव, कांग्रेस की जमानत तक जब्त हो जाएगी – संजय निरुपम

यस बैंक को राहत, कमाए 2700 करोड़

and Read News exchange articles at newsexchange.in Because newsexchange.in best in articles about health, food, beauty and life.